ताजमहल टूरिज्म 2022 - टिकट प्राइस, कैसे पहुंचे, सही समय, इतिहास

क्या आप ताजमहल घूमना चाहते हैं ? जाने से पहले आप यह जरूर जानिए कि ताज महल कैसे पहुंचे, टिकट प्राइस, खुलने का समय और ताज महल का इतिहास क्या है ?
दुनिया के सात अजूबों में पहला ताजमहल एक बहुत ही लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। यहां ठीक से घूमने के लिए आपको एक अच्छे ट्रैवल गाइड की जरूरत पड़ेगी। एक गाइड के बिना आप ताजमहल को ठीक से नहीं जान पाएंगे और आप इसके वैल्यू को नहीं समझ पाएंगे। यहां हर साल करोड़ों पर्यटक घूमने आते है, और पूरी जानकारी के अभाव में अधिकतर लोग भ्रमित हो जाते हैं।

इसलिए आज मैं आपको ताजमहल देखने में मदद करूंगा। मैं आपका मार्गदर्शन करूंगा कि आपको ताजमहल कब देखना चाहिए? आपको कहाँ जाना चाहिए? और मैं आपको उनके टिकट की कीमत के बारे में भी बताऊंगा। साथ ही आप ताजमहल के इतिहास के बारे में भी जानेंगे। यह सारी जानकारी पढ़ने के बाद आपको किसी दूसरे टूरिस्ट गाइड की जरूरत नहीं पड़ेगी। अगर कोई टूरिस्ट गाइड आपको ताजमहल देखने के लिए कहे, तो उसके बहकावे में न आएं। वे सब तुम्हें लूटने की कोशिश करते रहते हैं। आप इस जानकारी को English में भी पढ़ सकते है।

पीक सीज़न: दिसम्बर
ऑफ़ सीजन: जून
लोकप्रियता: दुनिया का पहला अजूबा
रेटिंग: ⭐⭐⭐⭐
टिकट प्राइस: ₹250
समय: 6 AM - 6:30 PM

Taj Mahal Tourism - Best Places, Ticket Prices, Timing, History
ताजमहल टूरिज्म 2022

ताजमहल - सम्पूर्ण यात्रा

ताजमहल भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के आगरा शहर में स्थित है। जो विश्व का सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। ताजमहल अपने इतिहास के कारण भी काफी लोकप्रिय रहा है। 2007 में, ताजमहल को दुनिया के सात अजूबों में से पहला घोषित किया गया था। इसके बाद ही ताजमहल पहले से भी ज्यादा लोकप्रिय हो गया। ताजमहल देखने के लिए आज हजारों की संख्या में सैलानी रोजाना आते हैं।

ताजमहल परिसर के अंदर जाने के लिए तीन गेट (ईस्ट गेट, वेस्ट गेट और साउथ गेट) हैं। आप परिसर में मोबाइल, कैमरा और पानी की बोतल ले जा सकते हैं। लेकिन अन्य बड़े सामान जैसे बड़े बैग या कोई अन्य सामान नहीं ले जाया जा सकता है। इसके लिए टिकट काउंटर के पास क्लॉकरूम की सुविधा दी गई है। जहां आप अपना सामान वहां जमा कर सकते हैं।

ताजमहल के अंदर जाने के लिए, आपको अपना टिकट सत्यापित करना होगा। इसके लिए आप 2 घंटे की लंबी लाइन में खड़े होना होगा। या आप एक स्थानीय फोटोग्राफर को बुक कर सकते हैं और दूसरे शॉर्टकट से ले जा सकते हैं। ताजमहल के अंदर जाने के कई ऐसे रास्ते हैं जिनके बारे में सिर्फ लोकल लोग ही जानते है।

ताजमहल के अंदर

ताजमहल का मुख्य आकर्षण परिसर के बीच में स्थित सफेद संगमरमर का मकबरा है। जिसके तहखाने में मुमताज महल और शाहजहाँ का मकबरा स्थित है। यह मकबरा सफेद संगमरमर से बना है, जिस पर कीमती गहनों से सुंदर नक्काशी की गई है। इसमें आपको भारतीय, इस्लामी, तुर्की और फारसी वास्तुकला का अनूठा तालमेल देखने को मिलेगा।

Taj Mahal Carving - Inside Taj Mahal Tourism
ताजमहल की नक्काशियां - ताजमहल टूरिज्म 2022

अगर आप किसी गेट से अंदर आते हैं तो आपको सबसे पहले मेन गेट पर जाना होगा, जिसे रॉयल गेट के नाम से भी जाना जाता है। यहां से आप ताजमहल के दर्शन कर सकेंगे।

खास बात यह है कि ताजमहल के चारों कोनों पर स्थित ये चारों मीनारें बाहर की ओर झुकी हुई हैं। इन्हें इस तरह से डिजाइन किया गया है कि अगर किसी कारण से ये मीनार गिर भी जाएं तो बाहर की ओर गिरेंगे। जिससे ताजमहल को कोई नुकसान नहीं होगा।

मुमताज बेगम का असली मकबरा कहाँ स्थित है ?

आप देखेंगे कि ताजमहल के अंदर दो मकबरे हैं। जिनमें से एक शाहजहाँ का बड़ा मकबरा है और दूसरा मुमताज महल का छोटा मकबरा है। वैसे ये दोनों कब्रें नकली हैं और असली कब्र ताजमहल के तहखाने में मौजूद है। मुमताज महल की मृत्यु के बाद शाहजहाँ ने पहले ही घोषणा कर दी थी कि उनका मकबरा भी मुमताज महल के मकबरे के पास ही बनाया जाए।

Taj Mahal Tourism - Best Places, Ticket Prices, Timing, History
ताजमहल टूरिज्म 2022

इस्लामी संस्कृति के अनुसार मकबरा ऐसा बनाया जाना चाहिए जहां ज्यादा लोग न जा सकें। इसलिए शाहजहाँ ने तहखाने में असली मकबरा बनवाया और ऊपर की पहली मंजिल पर नकली मकबरा बनवाया। इस नकली मकबरे को लोगों के देखने के लिए बनाया गया था। शाहजहाँ चाहते थे कि लोग उसकी कब्रों को देखकर उन दोनों को याद करें।

ताजमहल का इतिहास

ताजमहल का इतिहास बहुत ही अनोखा है। ताजमहल को हमेशा से प्यार का प्रतीक माना गया है। लेकिन PaidalYatri.in इस पर विश्वास नहीं करता। ऐसा ही कुछ अन्य वेबसाइटों पर आपको मिल जाएगा, जिसमें आपको खुश करने के लिए ताजमहल को प्यार का प्रतीक बताया जाता है। लेकिन हम आपको सच बताने आए हैं, आपको लुभाने के लिए नहीं।
सन 1631 में, शाहजहाँ की तीसरी पत्नी मुमताज महल अपनी आठवीं संतान को जन्म देते समय मृत्यु मर गई। शाहजहाँ मुमताज को बाकी रानियों से ज्यादा प्यार करता था। मुमताज की मौत के बाद शाहजहाँ ने अपने प्यार को यादगार बनाने के लिए ताजमहल बनवाया था। शाहजहाँ चाहता था कि ताजमहल को देखकर दुनिया इस प्यार को याद रखे।

Taj Mahal Building - Taj Mahal Tourism
ताजमहल का निर्माण - ताजमहल टूरिज्म 2022 (Source)

ताजमहल की नींव 1631 में रखी गई थी, जो 1643 में बनकर तैयार हुई थी। इस तरह इसे बनने में कुल 21 साल का समय लगा। ताजमहल के निर्माण कार्य में उस्ताद अहमद लाहौरी प्रमुख बने। उस्ताद अहमद लाहौरी ने ही दिल्ली के लाल किले जैसे बड़े किले बनवाए थे। ताजमहल के पूरी तरह बनने के बाद 30 हजार से ज्यादा मजदूरों के हाथ काट दिए गए। क्योंकि शाहजहाँ चाहता था कि ये मजदूर ताजमहल जैसा कोई दूसरा महल न बनाएं। लेकिन ऐसा नहीं है, इतिहास के पन्नो में हमें कोई ऐसे साबुत नहीं मिले।

ताजमहल में इस्तेमाल किया गया सफेद संगमरमर राजस्थान से, जेड और क्रिस्टल जापान से, लेपिस लेजुली अफगानिस्तान से, कारेलियन अरब, तिब्बत से टर्कोइस, पंजाब से जैस्पर, श्रीलंका से शेफ़र लाया गया था। इन चीजों को एक जगह से दूसरे जगह पर ले जाने के लिए 1500 से अधिक हाथियों का इस्तेमाल किया गया था। ताजमहल में और भी महंगे रत्न जड़े हुए थे, जिसे अंग्रेजों ने लूट लिया था। इसके साथ ही ताजमहल में बगीचों का निर्माण अंग्रेजों ने कराया है।

ताजमहल घूमने का सबसे अच्छा समय

ताजमहल घूमने का सबसे अच्छा समय सर्दियों का होता है। क्योंकि गर्मियों में यहाँ बहुत गर्मी पड़ती है। ऐसे में आपको ताजमहल के दर्शन करने में दिक्कत हो सकती है। यही कारण है कि शाहजहाँ भी आगरा छोड़कर दिल्ली चले गए और लाल किला बनवाया। अक्टूबर से मार्च के महीने में यहां आना काफी अच्छा रहेगा। ऐसे में आप ताजमहल के काफी अच्छे से दर्शन कर पाएंगे।

ताजमहल में एक मस्जिद भी है जिसमें जुम्मे के दिन हर शुक्रवार को नमाज पढ़ी जाती है। इस दिन ताजमहल बंद रहता है। ताजमहल देखने के लिए आपको शुक्रवार का दिन नहीं चुनना चाहिए, यह उस दिन बंद रहेगा।

Royal Darwaja - Taj Mahal Tourism
रॉयल दरवाजा - ताजमहल टूरिज्म 2022

2022 में ताजमहल के टिकट की कीमत

ताजमहल परिसर में प्रवेश करने के लिए, आपको एक जूता कवर लेना होगा। यह शू कवर हल्के कपड़े से बना होता है जिसे जूतों पर पहना जाता है। यह कवर आपके जूतों पर मौजूद गंदगी से कैंपस को गंदा होने से बचाता है। आप चाहें तो ऑनलाइन टिकट भी बुक कर सकते हैं।
Ticket Price
भारतीय ₹50
विदेशी / NRI ₹1000
सार्क ₹540
असली मकबरा ₹200
15 साल से कम फ्री

ताजमहल देखने में कितना खर्च होता है?

ताजमहल कोई महंगा पर्यटन स्थल नहीं है। और बहुत छोटा होने के कारण आप ताजमहल को बहुत जल्दी देख सकते हैं। अगर आप आगरा की सभी जगहों पर जाना चाहते हैं तो आपको एक होटल जरूर लेना चाहिए। लेकिन सिर्फ ताजमहल देखने के लिए आपको किसी होटल की जरूरत नहीं पड़ेगी। अगर टिकट की कीमत और खाने-पीने के खर्च को ध्यान में रखा जाए तो 3 से 5 हजार रुपये में एक कपल के लिए घूमने जाना ठीक रहेगा।

Taj Mahal Tourism - Best Places, Ticket Prices, Timing, History
ताजमहल टूरिज्म 2022

ताजमहल कैसे पहुंचें ?

  • नजदीकी बस स्टॉप: पुरानी मंडी चौराहा ताजमहल का सबसे नजदीकी बस स्टॉप है। यह सिर्फ 650 मीटर की दूरी पर है।
  • नजदीकी रेलवे स्टेशन: यमुना ब्रिज आगरा ताजमहल का सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन है। यह सिर्फ 5.4 किमी की दूरी पर है।
  • नजदीकी हवाई अड्डा: आगरा हवाई अड्डा ताजमहल का सबसे नजदीकी हवाई अड्डा है। यह सिर्फ 9.4 किमी की दूरी पर है।
ताजमहल के पास ऑटो स्टैंड से आप ऊंट गाड़ी की सवारी करके ताजमहल तक पहुंच सकते हैं। एक व्यक्ति को ऊंट गाड़ी की सवारी करने में 50 रुपये का खर्च आता है। ऊंट गाड़ी की सवारी करने में बहुत मजा आता है, जिसमें आप रास्ते का नजारा देखने जाते हैं। अगर आप दिल्ली से आ रहे हैं, और आपके पास निजी वाहन भी है, तो आप सिर्फ 4 घंटे में यमुना एक्सप्रेस-वे से आगरा पहुंच सकते हैं।

ताजमहल के पास सर्वश्रेष्ठ होटल

Hotels Contact
Hotel Atulyaa Taj ⭐⭐⭐⭐ 0562 223 3076
Parador Agra 070881 00768
Hotel Riya Palace ⭐⭐⭐ 0 97607 83430
Hotel Taj Resorts ⭐⭐⭐⭐ 070601 05001
Hotel Crystal Inn ⭐⭐ 093686 58225

अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

Q. ताजमहल कहाँ स्थित है ?
ताजमहल उत्तर प्रदेश के आगरा शहर में स्थित है। यह ताजमहल का पूरा पता है: धर्मपुरी, वन कॉलोनी, ताजगंज, आगरा, उत्तर प्रदेश 282001, भारत।

Q. ताजमहल का निर्माण किसने करवाया था ?
ताजमहल का निर्माण शाहजहाँ ने करवाया था। और इसका निर्माण उस्ताद अहमद लाहौरी की देखरेख में किया गया था, जो एक महान वास्तुकला शास्त्र थी।

Q. ताजमहल क्यों बनाया गया था ?
शाहजहाँ की तीसरी पत्नी मुमताज महल की चौदह बच्चों को जन्म देते समय मृत्यु हो गई। शाहजहाँ मुमताज बेगम को सबसे ज्यादा प्यार करते थे। दुनिया को अपने प्यार की निशानी देने के लिए शाहजहाँ ने ताजमहल का निर्माण करवाया।

Q. ताजमहल का निर्माण कब हुआ था ?
1631 में मुमताज महल की मृत्यु के बाद, शाहजहाँ ने ताजमहल का काम शुरू किया। और यह 1643 में बनकर तैयार हुआ था। इसे बनने में कुल 21 साल लगे थे।

Q. ताजमहल कैसे पहुंचे ?
ताजमहल उत्तर प्रदेश के आगरा शहर में स्थित है। आगरा में एक रेलवे स्टेशन और हवाई अड्डा है, जिसके माध्यम से आप भारत के किसी भी कोने से आगरा पहुँच सकते हैं। रेलवे स्टेशन से और हवाई अड्डे के बाहर आप बस और टैक्सी की मदद से ताजमहल पहुँच सकते हैं। अगर आप दिल्ली से आ रहे हैं तो यमुना एक्सप्रेस-वे के जरिए सीधे आगरा पहुंच सकते हैं। इसमें आपको 4 घंटे लगेंगे।

एक टिप्पणी भेजें