तिरुपति बालाजी मंदिर - कब पहुंचे, कैसे पहुंचे, टिकट प्राइस, इतिहास

क्या आप तिरुपति बालाजी मंदिर घूमना चाहते हैं? आपको पता होना चाहिए कि तिरुपति बालाजी मंदिर कैसे पहुंचे, कब जाना चाहिए, टिकट प्राइस, और इसका इतिहास
आंध्र प्रदेश में स्थित तिरुमाला तिरुपति बालाजी मंदिर भारत का सबसे प्रसिद्ध मंदिर है। भगवान विष्णु की प्राचीन मूर्ति के दर्शन के लिए हर दिन लाखों लोग इस मंदिर में आते हैं। यह मंदिर भगवान वेंकटेश्वर जी का है, जिन्हें श्री निवास और गोविंदा के नाम से भी जाना जाता है। यह मंदिर भारत के सभी तीर्थ स्थलों में से एक है।

अगर आप भी तिरुमाला तिरुपति बालाजी मंदिर घूमना चाहते है तो आपको यह पता होना चाहिए कि तिरुमाला तिरुपति बालाजी मंदिर कैसे पहुंचा जाए। यहाँ आने का सही समय क्या होगा ? और यहाँ घूमने में कितना खर्चा होगा ? साथ ही मैं आपको तिरुमाला तिरुपति बालाजी मंदिर का इतिहास भी बताऊंगा। आप इस जानकारी को English में भी पढ़ सकते है।

पीक सीजन: जनवरी
ऑफ़ सीजन: जून
लोकप्रियता: भारत का प्रमुख धाम
रेटिंग: ⭐⭐⭐⭐
टिकट प्राइस: ₹500
समय: 24x7

Tirupati Balaji Temple - History & Guide
तिरुपति बालाजी मंदिर, आंध्र प्रदेश

तिरुपति बालाजी मंदिर - सम्पूर्ण यात्रा

मंदिर 14वीं शताब्दी में बनाया गया था और यह चित्रकला और वास्तुकला का एक अद्भुत उदाहरण है। श्री निवास, श्री वेंकटेश्वर और श्री बालाजी को भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है। उन्हें सात पर्वतों का स्वामी भी कहा जाता है। इस मंदिर को लेकर कई मान्यताएं हैं। मैं आपको संक्षेप में बताता हूं।

तिरुमाला तिरुपति बालाजी मंदिर भारत के सबसे अमीर मंदिर है। यह मंदिर भारत के आंध्र प्रदेश राज्य के चित्तूर जिले में स्थित है। तिरुपति बालाजी मंदिर समुद्र तल से 3200 फीट की ऊंचाई पर तिरुमाला पहाड़ियों पर बना है।

तिरुमाला में स्थित सात पर्वत भगवान विष्णु के सात सिर वाले शेष नाग के समान प्रतीत होते हैं। यह तिरुपति बालाजी मंदिर वेंकटाद्री नाम की सातवीं पहाड़ी पर स्थित है। यह तिरुपति बालाजी मंदिर हमेशा सभी जाति, धर्म और रंग के लोगों के लिए खुला है। यहां किसी भी तरह के लोगों को अंदर जाने से मना नहीं किया जाता है।

पुराण और बाकी पुराने ग्रंथों में यह लिखा है कि कलयुग यानि आज के समय में श्री वेंकटेश्वर की कृपा से ही सुख समृद्धि प्राप्त हो सकता है। यह मंदिर पूरी तरह से निजी है। यह मंदिर तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम (TTD) के अंतर्गत आता है। श्री वेंकटेश्वर की मूर्ति मंदिर के गर्भगृह में स्थित है, यह गर्भ गृह मुख्य मंदिर के प्रांगण में है। परिसर में अन्य सुंदर छोटे मंदिर भी हैं, जैसे -
  1. ग्रेट गेटवे
  2. संपांग
  3. प्रदक्षिणा
  4. कृष्णा देवरिया मंडपम
  5. रंग मंडपम
  6. तिरुमलाई मंडपम
  7. मिरर पैलेस
  8. स्तंभ मंडपम फ्लैग करें
  9. नदीमी
  10. पदिकंबली
  11. विमान उड़ान
  12. श्री वृदे राज साईं पोर्टो

Tirupati Balaji Temple - History & Guide
श्री वेंकटेश्वर जी - तिरुपति बालाजी मंदिर, आंध्र प्रदेश

पैदल चलने वालों के लिए पहाड़ी पर चलने के लिए तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम नाम की सड़क भी बनाई गई है। जो चलने के लिए बहुत अनुकूल है। साथ ही अलीपीरी से तिरुमाला के लिए एक विशेष मार्ग बनाया गया है।

तिरुपति बालाजी मंदिर से 1 किमी दूर, तिरुमाला में शॉपिंग मॉल के पास, अन्न दाना हॉल में प्रतिदिन केवल शाकाहारी भोजन उपलब्ध है। रोजाना 25 हजार से ज्यादा लोग यहाँ खाना खाने आते हैं। आपको बता दें कि तिरुमाला में सभी खाद्य दुकानों में टीटीडी द्वारा कीमत तय की जाती है।

तिरुमाला तिरुपति बालाजी मंदिर में चंदन के लकड़ी से बनी वेंकटेश्वर और पद्मावती की मूर्ति बहुत लोकप्रिय है। आपको मंदिर के पास कई कलाकार मिलेंगे जो चावल के दाने पर आपका नाम लिख सकते हैं। मंदिर के बाहर श्री वेंकटेश्वर की तस्वीर वाले सोने के सिक्के भी बेचे जाते हैं। आप यहाँ से यादगार चीजें खरीदते हैं।
लोग यहां बाल दान करने भी आते हैं। बाल दान करने का अर्थ है अपना अभिमान छोड़ना। ऐसा करने से लोग अपना अभिमान भगवान पर छोड़ देते हैं और एक सुखी जीवन व्यतीत करते हैं। बाल दान का कार्य मंदिर के कल्याण कट्टा नामक स्थान पर किया जाता है। यहां के यात्री सबसे पहले अपने बाल दान करते हैं, फिर पुष्कर्णी नामक तालाब में स्नान करते हैं और फिर मंदिर के अंदर प्रवेश करते हैं।

Tirupati Balaji Temple - History & Guide
तिरुपति बालाजी मंदिर, आंध्र प्रदेश

सर्व दर्शनम का प्रवेश द्वार वैकुंठम परिसर में है। यहां आप प्रवेश के लिए टिकट भी खरीद सकते हैं। आप नि:शुल्क मंदिर के अंदर भी जा सकते हैं। लेकिन आपको मुफ्त टिकट के साथ सभी जगहों पर जाने की अनुमति नहीं होगी। और अगर आप किसी मंदिर के सभी स्थानों को देखने जाते हैं तो आपके टिकट की कीमत तय करेगी कि आपको कहां और कितने समय तक देखने की इजाजत होगी।

विकलांग लोगों के लिए भी विशेष व्यवस्था है। और इन विकलांगों की मदद के लिए मददगार हमेशा तैनात रहते हैं। पनियाराम एक प्रकार का लड्डू है जो इस मंदिर में चढ़ाए जाने वाले प्रसाद में से एक है। यह पनियाराम लड्डू तिरुपति बालाजी मंदिर का सबसे प्रसिद्ध प्रसाद है। इस प्रसाद को आप मंदिर के बाहर से भी खरीद सकते हैं।

यहां का सबसे प्रमुख त्योहार ब्रह्मोत्सव है। जिसे खुशियों का त्योहार कहा जाता है। यह पर्व सूर्य के कन्या राशि में जाने पर मनाया जाता है। जो साल में एक बार सितंबर या अक्टूबर के महीने में आता है। इस मंदिर में शादी करने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। और कुछ लोग अपने नवजात बच्चों के नाम करण के लिए भी यहाँ आते हैं।

Tirupati Balaji Temple - History & Guide
पनियाराम लड्डू - तिरुपति बालाजी मंदिर, आंध्र प्रदेश

तिरुपति बालाजी मंदिर का इतिहास

इस मंदिर का निर्माण वैष्णव संप्रदाय द्वारा किया गया था। यह समुदाय समान और प्रेमपूर्ण तरीके से रहने वाले लोगों का था। इस मंदिर का वर्णन कई धार्मिक ग्रंथों में मिलता है। यहां भगवान वेंकटेश्वर के आशीर्वाद से ही मनोकामना पूर्ण होने की संभावना पूरी होती है।

ऐसा कहा जाता है कि भगवान विष्णु कुछ समय के लिए स्वामी पुष्करणी नामक तालाब के किनारे रहने के लिए आए थे। और फिर इसी तालाब के पास तिरुपति बालाजी मंदिर का निर्माण किया गया है।

एक और कहानी यह भी है कि 11वीं शताब्दी में संत रामानुज सातवीं पहाड़ी पर चढ़े थे। तब भगवान श्री निवास प्रकट हुए और संत रामानुज को आशीर्वाद दिया। ऐसा माना जाता है कि भगवान श्री निवास का आशीर्वाद प्राप्त करने के बाद संत रामानुज 120 वर्ष जीवित रहे। और हर जगह उन्होंने भगवान श्री निवास का प्रचार करना शुरू कर दिया।

तिरुपति बालाजी मंदिर टिकट प्राइस 2022

टिकटप्राइस
TTD दर्शन (Lite)₹300
TTD दर्शन (Full)₹500

तिरुपति बालाजी मंदिर जाने का सही समय

इस मंदिर में जाने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च का महीना है। इन दिनों भक्तों और यात्रियों की भारी भीड़ उमड़ पड़ती है। अप्रैल से जून के महीनों में गर्मी बहुत ज्यादा होती है। और जुलाई से सितंबर के महीने में बहुत बारिश होती है।

तिरुमाला तिरुपति बालाजी मंदिर टाइमिंग

Session Time
सुप्रभात सेवा / अंगप्रदक्षिणम 2:30 am - 3:00 am
थोमाला सेवा (एकांतम) 3:30 am – 4:00 am
कोलुवु और पंचांग श्रवणम (एकांतम) 4:00 am – 4:15 am
प्रथम अर्चना, सहस्रनामर्चना 4:15 am – 5:00 am
VIP ब्रेक दर्शन: L1, L2, L3 5:00 am – 8:30 am
विशेष पूजा/अष्टदला पद पद्मराधनामु/
सहस्रकलासभिषेकम / T
6:00 am – 7:00 am
शुद्धि, द्वितीय अर्चना, द्वितीय बेल 7:00 am – 7:30 am
सर्व दर्शन / दिव्य दर्शन / विशेष प्रवेश दर्शन 8:30 am – 7:00 pm
वरिष्ठ नागरिक दर्शन/शारीरिक रूप से विकलांग दर्शन/
मरीज दर्शन
10:00 am
कल्याणोत्सवम/अर्जिता ब्रह्मोत्सवम/वसंतोत्सवम/
उंजल सेवा (दोलोत्सवम)/सुपदम दर्शन
12:00 pm – 5:00 pm
वरिष्ठ नागरिक दर्शन/विकलांग दर्शन/
मरीज दर्शन
3:00 pm
सहस्र दीपलंकरण सेवा 5:30 pm – 6:30 pm
शुद्धि, कैंकर्यम (एकांतम), नाइट बेल 7:00 pm – 8:00 pm
सर्व दर्शन / दिव्य दर्शन 8:00 pm – 11:30 pm
शुद्धि, एकंता सेवा की तैयारी 11:30 pm – 12:00 am
एकांत सेवा 12:00 am

तिरुपति बालाजी मंदिर कैसे पहुंचे ?

यात्रियों की भारी भीड़ के कारण कई बार आपको तिरुपति रेलवे स्टेशन का कोई टिकट नहीं मिलेगा। तो आप रेनीगुंटा जंक्शन भी आ सकते हैं। रेनिगुंटा से आप बस और टैक्सी के जरिए तिरुपति जा सकते हैं।
  • नजदीकी बस स्टॉप: तिरुपति बालाजी मंदिर का सबसे नजदीकी बस स्टॉप तिरुपति है। यह सिर्फ 21.7 किमी की दूरी पर है।
  • नजदीकी रेलवे स्टेशन: तिरुपति वेस्ट हॉल्ट तिरुपति बालाजी मंदिर का सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन है। यह सिर्फ 22.2 किमी की दूरी पर है।
  • नजदीकी हवाई अड्डा: तिरुपति बालाजी मंदिर का सबसे नजदीकी हवाई अड्डा रेनीगुंटा हवाई अड्डा है। यह सिर्फ 37.7 किमी की दूरी पर है।
आपको हवाई अड्डे से एक बस सेवा भी मिलेगी जो सिर्फ 30 मिनट में तिरुपति बालाजी मंदिर पहुंच जाएगी। और आप तिरुपति रेलवे स्टेशन से 21 किमी दूर तिरुमाला के लिए बस और टैक्सी से भी यात्रा कर सकते हैं। आप भारत में विभिन्न स्थानों से टीटीडी बस सेवा बहुत आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। आप इस बस को ऑनलाइन भी बुक कर सकते हैं।


तिरुपति बालाजी मंदिर के पास सर्वश्रेष्ठ होटल

तिरुपति बालाजी मंदिर के आसपास होटलों में ठहरने की भी अच्छी व्यवस्था है। जो बहुत सस्ते भी होते हैं। इन होटलों की बुकिंग टीटीडी हेड ऑफिस से की जा सकती है। लोग इनमें केवल 24 घंटे के लिए रह सकते हैं। वैसे, मैं आपको संपर्क नंबरों के साथ शीर्ष 5 सबसे सस्ते होटलों की सूची दे रहा हूं।
HotelsContact
Treebo Trend Sls Grand ⭐⭐⭐09322800100
Pai Viceroy Tirupati ⭐⭐⭐08772275777
Hotel Raj Park Tirupati08772223666
Vihas Hotels ⭐⭐⭐08886601604
Plr Grand by Tommaso ⭐⭐⭐09030057115

तिरुपति में आपको हर जगह शाकाहारी भोजन मिल जाएगा। यहाँ नॉनवेज खाने की इजाजत नहीं है। तिरुपति रेलवे स्टेशन के पास स्वयं सेवा करने वाले दीपम फूड प्लाजा में बहुत सारे यात्री जाते हैं। यह फूड प्लाजा बहुत सस्ता है और ये आपको बहुत ही स्वादिष्ट और साफ खाना देंगे। तिरुपति में कमरे यहां से ऑनलाइन भी बुक किए जा सकते हैं। मैंने आपको तिरुपति बालाजी मंदिर के बारे में पूरी जानकारी दी है।

Tirupati Balaji Temple, Andhra Pradesh - History,Timing, Cost
तिरुपति बालाजी मंदिर, आंध्र प्रदेश

अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

Q. तिरुपति बालाजी मंदिर कहाँ स्थित है ?
तिरुपति बालाजी मंदिर आंध्र प्रदेश में चेन्नई के पास तिरुपति में स्थित है। इसका पूरा पता है: तिरुमाला, तिरुपति, आंध्र प्रदेश, भारत 517504.

Q. तिरुपति बालाजी मंदिर का इतिहास क्या है ?
तिरुपति को भगवान विष्णु के नाम से भी जाना जाता है। बहुत समय पहले, भगवान विष्णु कुछ समय के लिए यहां रहने आए थे।

Q. क्या तिरुपति बालाजी मंदिर के पास ठहरने के लिए कोई होटल है ?
हाँ, यहाँ ठहरने के लिए बहुत सारे होटल हैं। वैसे, आप टीटीडी में तिरुपति रूम सर्विस में भी रह सकते हैं।

Q. तिरुपति बालाजी मंदिर किसने बनाया था ?
इस मंदिर को वैष्णव संप्रदाय ने 1720 में बनवाया था। यह समुदाय समान और प्रेमपूर्ण तरीके से रहने वाले लोगों का था। इस मंदिर का वर्णन कई धार्मिक ग्रंथों में मिलता है।

Q. तिरुपति बालाजी मंदिर के कपाट खुलने और बंद होने का समय क्या है ?
तिरुपति बालाजी मंदिर हमेशा खुला रहता है। लेकिन यहाँ होने वाले पूजा और कार्यक्रम अलग अलग समय पर किये जाते है।

एक टिप्पणी भेजें